क्या आप भारत में बिजनेस लोन और टैक्स छूट के बारे में जानते हैं?

Do You Know About The Business Loan And The Tax Benefits In India?

अगर आप बिजनेसमैन हैं तो आप बिजनेस लोन की वैल्यू के बारे में जानते होंगे. लेकिन क्या आप जानते हैं कि बिजनेस लोन ग्राहकों को टैक्स छूट भी देते हैं. जी हां ये सही है. बिजनेस लोन्स आवेदकों को टैक्स छूट भी देते हैं. इसलिए अगर आप छोटा बिजनेस लोन लेने के बारे में सोच रहे हैं लेकिन इसे लेकर झिझक में हैं क्योंकि आप सोच रहे हैं कि ये आने वाले वर्षों में आपके टैक्स को किस तरह प्रभावित करेगा तो आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है. वो इसलिए क्योंकि बिजनेस लोन्स टैक्स कटौती योग्य होते हैं.

इस आर्टिकल को पढ़ें और खुद समझें कि ऐसे कौन से बिजनेस लोन हैं, जो ग्राहकों को विभिन्न टैक्स छूट देते हैं.

बिजनेस लोन के तहत टैक्स छूट

हर कर्जदाता की लोन ब्याज दर अलग-अलग होती हैं. इसे एक खर्च की श्रेणियों में बांटा जाता है, जिसके कारण बिजनेस के मकसदों को पूरा करने में लोन फंडिंग का इस्तेमाल किया जाता है.

जैसे कि लोन चुकाने के दौरान दिए गए इंट्रस्ट कंपोनेंट पर टैक्स कटौती योग्य खर्च के रूप में दावा किया जाता है. इसे इस उदाहरण से समझा जा सकता है कि किसी भी कारोबार के लिए इनकम टैक्स की कैलकुलेशन करते समय चुकाया गया ब्याज सकल आय (Gross Income) से काट लिया जाता है.

लेकिन यह ध्यान में रखना चाहिए कि यह कारोबार के सही रिकॉर्ड को बनाए रखने के लिए जरूरी है ताकि संबंधित सबूत को आयकर विभाग द्वारा पूछे जाने पर पेश किया जा सके.

बिजनेस लोन पर मूल टैक्स डिडक्टेबल नहीं है

यह ध्यान देने वाली बात है कि एक बिजनेस लोन में प्रिंसिपल अमाउंट पर टैक्स लगता है. टैक्स की गणना करते वक्त अपनी सकल आय से ग्राहक को इस राशि पर कटौती की इजाजत नहीं होती.

लेकिन यहां यह समझना जरूरी है कि प्रिंसिपल अमाउंट बिजनेस द्वारा नहीं कमाया जाता. यह पैसा किसी थर्ड पार्टी से लिया गया होता है, जिसे वापस चुकाना होता है. लिहाजा इसे बिजनेस से कमाई हुई आय नहीं ठहराया जा सकता.

प्रभावी रूप से इसका मतलब है कि बिजनेस लोन को सकल आय में शामिल नहीं किया जा सकता. न तो ग्राहक को इस पर इनकम टैक्स देना होता है और न ही वह इसे अपनी सकल आय से इसकी कटौती कर सकता है.

ऊपर बताई गई बातों से उन टैक्स कटौतियों के बारे में पता चलता है, जो बिजनेस लोन में ग्राहकों को मिलती हैं. इसके अलावा बैंकिंग सेक्टर में तेजी से बढ़ती टेक्नोलॉजी के कारण बिजनेस लोन लेना काफी आसान हो गया है. हालांकि काफी कम लोग जानते हैं कि न सिर्फ बिजनेस लोन बिजनेस को बढ़ाने में मदद करता है बल्कि यह ग्राहक को टैक्स छूट भी देता है. लेकिन यह भूलना नहीं चाहिए कि बिजनेस लोन, किसी अन्य लोन की तरह एक निश्चित अवधि में ब्याज के साथ चुकाया जाएगा. लिहाजा सलाह दी जाती है कि इसे बेहद सावधानी से लें.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*