भारत में मिल सकता है असुरक्षित बिजनेस लोन, क्या आप जानते हैं कैसे?

भारत संस्कृति, धर्म और मितव्ययी नवीनता की एक ऊपजाऊ जमीन है. इसकी मिट्टी में एक अरब से ज्यादा की जनसंख्या समाई है. इससे उन कंपनियों के लिए एक तेज-तर्रार भूगोल तैयार हो जाता है जो देश को मापनीय और अद्भुत व्यापार मॉडल बनाना चाहते हैं.

एक ग्राहक कई बार अपनी बिजनेस की जरूरतों को पूरा करने के लिए असुरक्षित बिजनेस लोन लेते हैं वो भी बिना कोई चीज बतौर गारंटी रखे हुए. इसका मतलब यह है कि ग्राहक को लोन मिल जाएगा, वो भी कोई संपत्ति या चीज को गारंटी रखे बिना. वर्किंग कैपिटल लोन क्या है ये समझाने के लिए यह सबसे मुफीद जगह है. ये लोन इसलिए लिए जाते हैं ताकि कंपनी के रोजमर्रा के कामकाज, जिसमें खर्चे, कंपनी का रेंट, कर्मचारियों की सैलरी और कर्जे शामिल होते हैं. कई बार कंपनियों के पास फंक्शनल कॉस्ट के लिए पर्याप्त फंड या संपत्ति नहीं होती और यहीं पर कम अवधि के छोटे बिजनेस वर्किंग कैपिटल लोन काम आते हैं.

भारत में छोटे व्यवसायों को वर्किंग कैपिटल लोन देने में आजकल के कर्जदाता ज्यादा फ्लेक्सिबल हैं. हालांकि, केवल सबसे योग्य व्यवसाय मालिकों को लोन के लिए काबिल माना जाता है और उन्हें लोन हासिल करने के लिए कुछ गारंटी भी देनी होगी.

ऐसे लोन की जरूरतें छोटे पैमाने पर व्यवसायों के लिए एक चुनौती है, जो अपनी संपत्ति को जोखिम में नहीं रखना चाहते. इसी जगह कर्जदाता सामने आते हैं, जो बिना किसी गारंटी के तुरंत वर्किंग कैपिटल लोन मुहैया कराते हैं.

असुरक्षित बिजनेस लोन मिलना आसान है क्योंकि इसके लिए कम तैयारियां करनी पड़ती हैं. लेकिन फिर भी ऐसे कुछ तरीके हैं, जिनके लिए आप भारत में असुरक्षित बिजनेस लोन पा सकते हैं.

अपने भविष्य के कैश फ्लो के अनुमानों का पता लगाएं

लोन अप्लाई करने से पहले अपने कैश फ्लो के अनुमानों की गणना करें ताकि यह मालूम रहे कि आपके पास अपने लोन का भुगतान करने के लिए पर्याप्त धनराशि है. वर्किंग कैपिटल लोन के लिए अप्लाई करने के लिए आपका बिजनेस दो साल पुराना होना चाहिए और पिछले साल की बिक्री कम से कम 5 लाख रुपये होनी चाहिए. पिछले साल का आईटीआर 1.5 लाख रुपये हो और व्यापारी का कोई घर हो या बिजनेस परिसर. अगर आप लोन नहीं चुका पाते हैं तो आपके क्रेडिट स्कोर पर असर पड़ेगा. इससे निकट भविष्य में लोन लेने में भी मुश्किलें होंगी.

अच्छा क्रेडिट स्कोर बनाएं

वर्किंग कैपिटल लोन पर कम ब्याज के लिए अच्छा क्रेडिट स्कोर बनाए रखें. यह लघु, मध्यम एवं छोटे उद्योगों के लिए सामान्य स्थिति होती है क्योंकि फंड की कमी के कारण उन्हें ऐसे लोन मिलने में मुश्किल होती है. अपना क्रेडिट स्कोर बढ़ाने के लिए आपको अपना क्रेडिट उपयोग का अनुपात घटाना होगा. यह कुल लोन को दिखाता है जो वर्तमान में आपके मौजूदा लोन से संबंधित है.

मजबूत बिजनेस प्लान

अगर आपने असुरक्षित बिजनेस लोन के लिए अप्लाई करने को लेकर कोई मजबूत बिजनेस प्लान नहीं बनाया है, जिसमें वित्तीय विवरणों का लेखा-जोखा, कैश फ्लो प्रोजेक्शन्स, बिजनेस का मकसद और विकास की रणनीति, बिजनेस पैसा कैसे बनाएगा, लोन का कारण शामिल है तो परेशान न हों क्योंकि लोन एप्लिकेशन को प्रोसेस करने के लिए बेहद कम दस्तावेज चाहिए होते हैं.

वर्किंग कैपिटल लोन के लिए दस्तावेजों में पैन कार्ड, घर और बिजनेस का पता, पिछले दो साल के आईटीआर, बैंकों का नौ महीनों का स्टेटमेंट चाहिए होता है. वर्किंग कैपिटल लोन के लिए सिर्फ यही दस्तावेज चाहिए होते हैं.

कर्जदारों पर रिसर्च करें

विभिन्न प्रकार के लोन: हमारे बिजनेस का मुख्य मकसद है कि इसे कई कामों के लिए इस्तेमाल करना. इसमें वर्किंग कैपिटल बढ़ाना और मशीनरी खरीदना शामिल है. लिहाजा आप मशीनरी लोन, वर्किंग कैपिटल लोन (जिसे ऐसे लोन के रूप में भी जाना जाता है जो वर्किंग कैपिटल मुहैया कराते हैं और इससे कंपनी के कम अवधि की जरूरतें पूरी होती हैं), कैपिटल लोन और टर्म लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं.

क्वॉलिफिकेशन: कई ऐसे कर्जदार हैं जो आपके व्यापार राजस्व और क्रेडिट स्कोर को देखते हैं. लेकिन जरूरतों का पैमाना भी अलग-अलग होता है.

वर्किंग कैपिटल लोन कैसे पाएं:

आप यह जानकर हैरान होंगे कि वर्किंग कैपिटल लोन पाना कितना आसान है. हम लोन एप्लिकेशन प्रोसेस करते हैं और केवल तीन दिनों में लोन आपके अकाउंट में आ जाता है. ग्राहक को केवल एक बार में लोन एप्लिकेशन के साथ सारे दस्तावेज देने हैं.

SME वर्किंग कैपिटल लोन ब्याज दर

एसएमई लोन की ब्याज दर ऋण की अवधि, गारंटी की शर्त और लोन की राशि पर आधारित होती है. अब आप वर्किंग कैपिटल लोन के लिए ऑनलाइन भी अप्लाई कर सकते हैं.

असुरक्षित बिजनेस लोन के फायदे

कोई गारंटी की जरूरत नहीं: असुरक्षित बिजनेस लोन का सबसे बड़ा फायदा है कि इसके लिए ग्राहक को कोई गारंटी नहीं देनी पड़ती. यह उन छोटे व्यवसायों के लिए श्रेष्ठ है, जिनके पास पर्याप्त संपत्ति नहीं है.

लोन की आसान प्रक्रिया: असुरक्षित बिजनेस लोन की प्रक्रिया सीधी होती है. आप घर बैठे, कर्जदाता की वेबसाइट या ऑनलाइन कर्जदाता पॉलिसी के जरिए भी इस लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं.

लचीलापन: बिना गारंटी वाले बिजनेस लोन में काफी फ्लेसिबिलिटी मिलती है. इस खासियत के चलते व्यापारियों को लोन अपनी जरूरतों के हिसाब से मिलता है और वे अपने कैश फ्लो से उसे चुका सकते हैं.

कम पेपरवर्क: कागजात का कम झंझट होने से असुरक्षित बिजनेस लोन की प्रक्रिया और आसान बन जाती है.

जल्द वितरण: चूंकि लोन के लिए योग्यता का पैमाना आसान है इसलिए लघु, मध्यम एवं छोटे उद्योगों के मालिकों को कम समय में ऐसे लोन मिल जाते हैं. जब आपको सबसे ज्यादा जरूरत हो तो आप असुरक्षित बिजनेस लोन या दूसरे शब्दों में कहें तो पर्सनल लोन ले सकते हैं. लोन की राशि जल्द प्रोसेस होकर अकाउंट में आ जाती है और आपका बिजनेस भी सुचारू रूप से चलता रहता है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*