समय से पहले लोन बंद करने की सोच रहे हैं? क्या आपको ऐसा करना चाहिए?

लोन फोरक्लोजर का मतलब क्या होता है, यह डिटेल में जानना जरूरी है. आपकी बकाया लोन राशि को तय तिथि से पहले ही चुकाकर बंद कर देने को लोन फोरक्लोजर कहते हैं. आमतौर पर पर्सनल लोन में एक साल का लॉक पीरियड होता है, जिसके बाद ही पूरी बकाया रकम चुकाई जा सकती है. पर्सनल लोन या तो समय से पहले या फिर थोड़ा-थोड़ा करके चुकाया जा सकता है.

पार्ट पेमेंट

जब ग्राहक के पास कुछ राशि बची होती है, जो पूरी मूल राशि के बराबर नहीं होती तो उसे पार्ट पेमेंट कहते हैं. यानी लोन की राशि का कुछ हिस्सा चुका देना. यह कैसे काम करता है? यह चुकाई गई मूल राशि को कम कर देता है, जिससे आपकी ईएमआई भी कम हो जाती है और ब्याज भी. यह जानना जरूरी है कि यह तभी काम करेगा, जब आप बतौर पार्ट पेमेंट अच्छी खासी रकम चुकाते हैं. लोन की फोरक्लोजिंग या प्री-क्लोजिंग या तो ग्राहक की तरफ से हो सकता है या फिर बैंक की तरफ से.

बैंक की तरफ से फोरक्लोजिंग

यह तभी होता है, जब ग्राहक नियमित रकम बतौर ईएमआई नहीं चुकाता. इसके बाद बैंक को उस प्रॉपर्टी की नीलामी करनी पड़ती है, जिसके एवज में उसने लोन लिया है. प्रॉपर्टी की नीलामी करके जो पैसा मिलता है, उससे बैंक लोन को फोरक्लोज कर देता है. क्योंकि ग्राहक के पास लोन की राशि को चुकाने लायक पैसे नहीं होते.

ग्राहक की ओर से फोरक्लोजर

अधिकतर मामलों में, लोग कर्जमुक्त होने के लिए समय से पहले ही लोन को खत्म कर देते हैं. लेकिन यह एक बुरा फैसला साबित हो सकता है. इसलिए लोन को फोरक्लोजर कराने से पहले बैंक के नियम व शर्तों को ध्यान से चेक कर लें.

– क्या लोन फोरक्लोजर कराना मुमकिन है? सभी बैंक तय तारीख से पहले लोन फोरक्लोजर कराने को लेकर राजी नहीं होते.

– फोरक्लोजर चार्जेज क्या हैं? आपको अधिकतर ऋणों के लिए (होम लोन को छोड़कर) कुछ प्री-क्लोजिंग चार्जेज चुकाने पड़ते हैं. फोरक्लोजिंग चार्जेज चुकाए जाने वाली मूल राशि के 3 से 6 प्रतिशत तक हो सकता है.

– आप कब लोन को फोरक्लोज कर सकते हैं? हर पर्सनल लोन को आमतौर पर 1 साल की ईएमआई चुकाए जाने के बाद ही फोर-क्लोजर किया जा सकता है.

जैसा कि पहले बताया गया कि ज्यादातर बैंक ग्राहकों को ऋण के पहले महीने से 6-12 महीनों के भीतर लोन को बंद करने की इजाजत नहीं देते यानी लोन शुरू होने की तारीख से. जब तक आप 12 महीने की ईएमआई का भुगतान करते है, तब तक आप ब्याज राशि के एक अहम हिस्से का भुगतान कर सकते हैं और बहुत कम सेविंग ही लोन की मूल राशि में खर्च होती है.

इसलिए, ट्रिक यही है कि लोन की अवधि में जितनी जल्दी हो सके पूरी राशि को समय से पहले ही चुका देना चाहिए ताकि ग्राहक को ब्याज पर कम शुल्क चुकाना पड़े. लेकिन अगर ग्राहक ने कई महीनों में ज्यादातर ब्याज चुका दिया है और उसके पास एक्स्ट्रा कैश है तो लोन को समय से पहले चुकाकर अपने कंधों से कर्ज के बोझ को उतार फेंकें.

आरबीआई ने हाल ही में बैंकों से ग्राहकों से प्री-क्लोजिंग चार्जेज नहीं वसूलने का निर्देश दिया था. लेकिन ये सिर्फ उन्हीं ऋणों पर लागू होगा, जिन्हें ‘फ्लोटिंग रेट ऑफ इंट्रस्ट’ पर लिया गया है. चूंकि अधिकतर पर्सनल लोन फिक्स्ड रेट पर लिए जाते हैं इसलिए वहां ये नियम अप्लाई नहीं होता. लेकिन ऐसे कई पब्लिक और प्राइवेट सेक्टर के बैंक हैं, जो प्री-पेमेंट चार्ज नहीं लेते. ऐसे मामलों में ग्राहकों को काफी फायदा होता है. वह इस पैसे का इस्तेमाल लोन को चुकाने में खर्च कर सकता है. आपके पास पड़ा पैसा आपको कम रिटर्न दे रहा है तो लोन क्यों चला रहे हैं जबकि जब आप पर्सनल लोन पर दिए गए ब्याज की तुलना में इसे कहीं और निवेश कर सकते हैं, तो ऐसे में अपने पर्सनल लोन को समय से पहले ही चुका देना ज्यादा समझदारी होगी.

जब आप पर्सनल लोन के प्री-क्लोजर के लिए जाएं तो कुछ दस्तावेज जैसे आईडी प्रूफ, प्री-क्लोजर के लिए डीडी/चेक, लोन अकाउंट नंबर साथ ले जाएं.

प्री-क्लोजर की स्लिप

– जब आप पेमेंट कर दें तो प्री-क्लोजर की रसीद जरूर हासिल कर लें. प्री-क्लोज करने के लिए कैश देने से बचें.

– अगर आपकी अगली ईएमआई नजदीक है तो हो सकता है कि राशि आपके अकाउंट से कट जाए. लेकिन सुनिश्चित कर लें कि बैंक उसे वापस आपके खाते में क्रेडिट कर दे.

– दो हफ्तों के भीतर आपको पर्सनल लोन के प्री-क्लोजर की जानकारी मिल जानी चाहिए.

पर्सनल लोन के फोरक्लोजर के फायदे

सेविंग्स

पर्सनल लोन को फोरक्लोज कराने का सबसे बड़ा फायदा है कि इससे आपकी सेविंग्स होती है.  जब भी आप पर्सनल लोन फोरक्लोज कराने जाते हैं तो इससे यकीनन कुछ राशि बचती है.

पर्सनल लोन के लिए कोई भी चीज बतौर गारंटी नहीं रखनी पड़ती. लेकिन इसकी ब्याज दर अन्य लोन की तुलना में काफी ज्यादा होती है. यह न्यूनतम 15 प्रतिशत सालाना से शुरू होती है. जब आप ईएमआई चुकाना शुरू करते हैं तो ब्याज का बड़ा हिस्सा चुकाते हैं और नतीजन मूल राशि धीरे-धीरे घटती है. लिहाजा अगर आप लोन को पहले ही चुकाकर फोरक्लोज करना चाहते हैं तो इससे आपकी काफी सेविंग्स होगी, जो आप ब्याज पर दे सकते थे.

मनोबल को बढ़ाता है

लोन के खत्म होने से ग्राहक पर एक मनोवैज्ञानिक प्रभाव पड़ता है. यह ग्राहक के लिए राहत है और एक ज्यादा ब्याज दर वाले लोन को बंद कराने से यकीनन मनोबल बढ़ता है. लोन को खत्म करने से आपको वित्तीय तौर पर मजबूत बनने का विश्वास मिलता है और संतुष्टि भी.

पर्सनल लोन के फोरक्लोजर के नुकसान

अन्य अवसरों के लिए बन सकता है ब्रेकर

पर्सनल लोन के फोरक्लोजिंग का मतलब है कि आपको एक बार में पूरी रकम चुकानी है. इसमें काफी ज्यादा पैसों की जरूरत पड़ती है और इससे अन्य अवसरों को लेकर नुकसान हो सकता है. लोन को फोरक्लोजर कराने से बेहतर है कि आप उस पैसे को अन्य चीजों जैसे निवेश में इस्तेमाल कर सकते हैं, जिससे आपको भविष्य में बेहतर नतीजे मिलें. या फिर आप उसे बच्चों के हायर एजुकेशन के लिए भी बचा सकते हैं.

फोरक्लोजर चार्जेज

बकाया राशि के अलावा आपको पर्सनल लोन को समय से पहले चुकाने पर फोरक्लोजर चार्जेज भी चुकाने पड़ेंगे. यही शुल्क यह तय करने में अहम भूमिका निभाते हैं कि क्या आपको फोरक्लोजर करना चाहिए या नहीं. अगर आपकी बकाया राशि बहुत अधिक नहीं है, तो फोरक्लोजिंग को चुनना आपको बहुत महंगा पड़ सकता है. लिहाजा आपको फोरक्लोजर तभी करना चाहिए जब फोरक्लोजर पर आपकी सेविंग्स एक अच्छी-राशि हो, जिसमें फोरक्लोजर फीस का खर्चा भी शामिल है.

CIBIL स्कोर पर प्रभाव

अगर आप वक्त पर पेमेंट्स करते हैं तो आपके CIBIL स्कोर पर सकारात्मक असर पड़ता है. वहीं पर्सनल लोन के फोरक्लोजर से आपके CIBIL स्कोर में गिरावट आ सकती है. लिहाजा आपको यह बात नहीं भूलनी चाहिए कि भविष्य में भी आपको लोन की जरूरत पड़ सकती है लिहाजा लोन के फोरक्लोजर से आपके CIBIL पर असर पड़ सकता है और विश्वसनीयता पर भी.

लॉक इन पीरियड

नियम व शर्तों के आधार पर आप लॉक इन पीरियड के क्लॉज के तहत लोन को फोरक्लोज नहीं कर सकते. लिहाजा अंतिम नतीजे पर पहुंचने से पहले अपने कर्जदाता से इस बारे में जान लें.

इस आर्टिकल को एक कहावत के साथ खत्म करना चाहेंगे कि जितना कम हो सके, उतना ही उधार लें और जितनी जल्दी हो सके, उतनी जल्दी चुकाएं. पर्सनल लोन्स के लिए यह सही है क्योंकि ज्यादा ब्याज दरें होने से लोन चुकाना कई लोगों के लिए मुश्किल हो जाता है. इसलिए अगर आप लोन का कुछ हिस्सा चुका सकते हैं तो बिना कुछ सोचे ऐसा कर दें.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*