पर्सनल लोन प्रोसेसिंग बनाम बिजनेस लोन प्रोसेसिंग

Processing Personal Loan Vs Processing Business Loan

क्या होता है पर्सनल लोन?

यह एक तरह का असुरक्षित लोन होता है, जो किसी शख्स को दिया जाता है ताकि वह अपने एजुकेशन, मेडिकल, रेनोवेशन, शादी इत्यादि जैसे खर्चे पूरे कर सके.

क्या होता है बिजनेस लोन?

यह सुरक्षित और असुरक्षित लोन होता है, जो बैंक द्वारा दिया जाता है ताकि बिजनेस को और बढ़ावा दिया जा सक

पर्सनल और बिजनेस लोन के लिए क्या है एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया?

पर्सनल लोन

बिजनेस लोन

• आवेदक की न्यूनतम आयु 21 वर्ष और अधिकतम आयु 65         वर्ष होनी चाहिए.

• आवेदक भारत का नागरिक होना चाहिए.

• आवेदक को वेतन मिलना चाहिए और न्यूनतम आय 4000         रुपये से 20000 रुपये (शहर के अनुसार भिन्न) होनी चाहिए.

• आवेदक को नौकरी करते हुए 2 साल का वक्त हो चुका हो.

• पर्सनल लोन के लिए आवेदन करने के लिए न्यूनतम CIBIL     स्कोर 750 होना चाहिए

 

• आवेदक का बिजनेस कम से कम पिछले 2 साल के लिए फायदा कमा         रहा हो.

• बिजनेस को कम से कम 2 साल का वक्त हो चुका हो.

• आवेदक को संबंधित लोन राशि के लिए न्यूनतम कारोबार बनाए रखना         चाहिए.

• न्यूनतम CIBIL स्कोर बिजनेस लोन के मामले में बैंक से बैंक में अलग         होता है.

• कोई भी आवेदक जिसका खुद का कारोबार है और नियमित रूप से आयकर रिटर्न फाइल करता है, वो बिजनेस लोन के लिए आवेदन कर सकता है.

• सह-आवेदक द्वारा आवेदन ऑप्शनल है और बिजनेस लोन के आवेदन के     लिए अनिवार्य नहीं है.

 

बिजनेस लोन और पर्सनल लोन के लिए किन दस्तावेजों की जरूरत पड़ती है?

पर्सनल लोन

बिजनेस लोन

• केवाईसी दस्तावेज़ जैसे आधार कार्ड, पैन कार्ड, आदि

• कर्मचारी का आईडी कार्ड

• कर्मचारी की सैलरी स्लिप

• बैंक खाता विवरण

• केवाईसी दस्तावेज़ जैसे आधार कार्ड, पैन कार्ड, आदि.

• पासपोर्ट साइज फोटो.

• बिजनेस का प्रमाण, जो व्यवसाय की मौजूदगी को दिखाता हो.

• बैंक खाता विवरण.

• आखिरी 2 वर्ष की बैलेंस शीट. इनकम और प्रॉफिट और लॉस की गणना के साथ ताजा आईटीआर.

• पिछले 3 साल के ऑडिटेड फाइनेंशियल्स

• अन्य प्रासंगिक दस्तावेज हैं- एकमात्र प्रोपराइटरशिप डिक्लेरेशन, मेमोरेंडम ऑफ एसोसिएशन / आर्टिकल ऑफ एसोसिएशन सर्टिफिकेट


क्या बेहतर है पर्सनल लोन या बिजनेस लोन?

तुलना के पैमाने

पर्सनल लोन

बिजनेस लोन

ब्याज दरब्याज दर आमतौर पर एक समान रहती है.ब्याज दर बदलती रहती हैं.
अधिकतम सीमापर्सनल लोन की अधिकतम सीमा 15 लाख रुपये से 20 लाख रुपये तक है.आवेदक 50 लाख रुपये और अधिक तक का लोन ले सकता है.
क्रेडिट स्कोरपर्सनल लोन हासिल करने के लिए एक क्रेडिट स्कोर सबसे महत्वपूर्ण कारक है.एक बिजनेस लोन केवल एक क्रेडिट स्कोर के आधार पर नहीं दिया जाता है, लेकिन अन्य कारकों जैसे बिजनेस विंटेज, बैंक स्टेटमेंट, टर्नओवर आदि भी इसमें शामिल होते हैं.
अवधिपर्सनल लोन की एक निश्चित अवधि होती है- एक साल से लेकर 6 साल.बिजनेस लोन छोटी और बड़ी दोनों अवधि के लिए होता है.
वितरणकेवाईसी और क्रेडिट हिस्ट्री सही पाए जाने पर पर्सनल लोन जल्दी से अकाउंट में वितरित हो जाता है.बिजनेस लोन में, दस्तावेज अधिक होते हैं और प्रोसेसिंग और वेरिफिकेशन में थोड़ा अधिक समय लगता है.
 इस्तेमालएक पर्सनल लोन का इस्तेमाल किसी भी बड़े और छोटे खर्चों को पूरा करने के लिए किया जा सकता है, जैसे यात्रा, शादी, रेनोवेशन, खरीदारी आदि के लिए.बिजनेस से संबंधित गतिविधियों के लिए बिजनेस लोन का इस्तेमाल किया जाना चाहिए जैसे कि वर्किंग कैपिटल, खर्च, प्लांट और मशीनरी की खरीद, कच्चे माल की खरीद. लेकिन किसी व्यक्तिगत खर्च के लिए राशि को नहीं निकाला जा सकता.

ऊपर दिए गए चार्ट से हम समझ सकते हैं कि अवधि, राशि की सीमा, सिलेक्शन क्राइटेरिया के मामले में बिजनेस लोन में ज्यादा फ्लेसिबिलिटी होती है. जबकि पर्सनल लोन में फ्लेक्सिबिलिटी सिर्फ इस्तेमाल में होती है. बिजनेस और पर्सनल लोन का मकसद भले ही अलग हो लेकिन दोनों किसी से कमतर नहीं है.


पुणे में पर्सनल लोन और बिजनेस लोन का ब्योरा

पैमाने

पर्सनल लोन

बिजनेस लोन

ब्याज दर10.99% – 20.75%12% – 27%
प्रोसेसिंग फीस0.99% – 3.00%शून्य – 3.00%
प्रीपेमेंट चार्जेजशून्य – 5.00%शून्य – 5.00%
CIBIL स्कोरकम से कम 750कई एनबीएफसी 750 से कम का CIBIL स्कोर होने पर भी लोन मुहैया कराते हैं.
न्यूनतम ईएमआई2174 रुपये प्रति लाख2594 रुपये प्रति लाख
रीपेमेंट पीरियड7 साल तक15 साल तक

आवेदक को यह समझना होगा कि उसका पर्सनल लोन या बिजनेस लोन लेने का मकसद क्या है. अगर जरूरत नहीं है तो आपको इसे नहीं लेना चाहिए वरना लोन एक लायबिलिटी बन जाएगा और किस्त नहीं चुकाने से आपके क्रेडिट स्कोर पर नकारात्मक असर पड़ेगा. जब भविष्य में आपको लोन की बहुत जरूरत पड़ेगी तो आप  लोन लेने के लिए गैर-योग्य हो जाएंगे. वहीं अगर पर्सनल लोन और बिजनेस लोन को सही तरीके से लिया जाए तो यह अच्छा निवेश साबित होता है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*